108 Hanuman Mantra: रोगों से मुक्ति के लिए मंगलवार के दिन करें हनुमान जी के इन मंत्रों का जाप

Hanuman Mantra:-   हिन्दू धर्म में हर दिन किसी न किसी देवी या देवता के समर्पित होता है, और किसी विशेष पूजा विधि का पालन करना शुभ माना जाता है। मंगलवार का दिन हनुमान जी के भक्तों के लिए विशेष महत्वपूर्ण है। यह माना जाता है कि मंगलवार को व्रत रखने से कुंडली में मंगल (मंगल) और शनि (शनि) ग्रह की स्थिति मजबूत होती है। मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा के साथ-साथ इनके मंत्रों का जाप भी करना चाहिए।

Hanuman Mantra: रोगों से मुक्ति के लिए मंगलवार के दिन करें हनुमान जी के इन मंत्रों का जाप

Hanuman Mantra:
Hanuman Mantra:

भक्तों के लिए हनुमान जी के मंत्र(Hanuman Mantra) आध्यात्मिक विकास, स्थिरता, शक्ति, और भलाइयों के प्रति भक्ति का एक महत्वपूर्ण साधन हैं। यहां कुछ प्रबल हनुमान मंत्र हैं:ॐ हं हनुमते नमः मंत्र  (OM Han Hanumate Namah)

1. “ॐ हं हनुमते नमः”

  • महत्व: शक्ति और सफलता प्रदान करता है।
  • भक्तों के लाभ: आंतरिक शक्ति को बढ़ावा देता है और सफलता में सहायक होता है।

2. “ॐ नमो हनुमते भयभंजनाय सुखं कुरु फट्”

  • महत्व: निर्भीकता और आनंद को आमंत्रित करता है।
  • भक्तों के लाभ: भय से मुक्ति प्राप्त करता है और सुख की अनुभूति कराता है।

3. “ॐ श्री हनुमते नमः”

  • महत्व: ध्यान और स्थिरता में सहायता करता है।
  • भक्तों के लाभ: ध्यान और स्थिरता में सुधार करता है।

4. “ॐ हनुमान बल बुधि बिद्या देहु मोहिं हरहु कलेस विकार”

  • महत्व: बल, बुद्धि, और विद्या की प्राप्ति के लिए प्रेरित करता है।
  • भक्तों के लाभ: शारीरिक और बौद्धिक विकास को बढ़ावा देता है।

हनुमान मंत्र जाप के लाभ

हनुमान मंत्र का जाप करने से आत्मिक और व्यक्तिगत लाभ होता है:

  • मानसिक शांति: हनुमान मंत्र मन की शुद्धि करते हैं और चिंताओं और समस्याओं से मुक्ति प्रदान करते हैं।
  • स्थिरता और ध्यान: नियमित मंत्र जाप से मानसिक स्थिरता बढ़ती है, जो मन को एकाग्रता में लाता है और ध्यान क्षमता को बढ़ाता है।
  • शारीरिक स्वास्थ्य: इस प्रयास से शारीरिक शक्ति में वृद्धि होती है, जो सम्पूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है।

पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

प1: क्या हनुमान मंत्र (Hanuman Mantra)को अन्य दिनों पर भी जप किया जा सकता है?

  • उत्तर: हाँ, मंगलवार के अलावा भी हनुमान मंत्र का जप करना फायदेमंद है। भक्त यदि चाहें, वे निरंतर आत्मिक विकास के लिए रोज़ाना जप कर सकते हैं।

प2: मंत्रों का जप कितनी बार करना चाहिए?

  • उत्तर: जप की संख्या विभिन्न हो सकती है, लेकिन सामान्यत: किसी विशिष्ट मंत्र को 108 बार बोलना एक सामान्य प्रथा है। भक्त अपनी समर्पण और समय सीमाओं के साथ एक संख्या चुन सकते हैं।

प3: मंगलवार के दिन हनुमान पूजा के लिए कोई विशेष नियम हैं क्या?

  • उत्तर: भक्त अक्सर व्रत रखते हैं, हनुमान मंदिर जाते हैं, और मंगलवार की पूजा के दौरान सिन्दूर और मिठाई चढ़ाते हैं। इन रितुअल्स का साथ भक्ति भाव से करना शुभ माना जाता है।

निष्कर्ष

मंगलवार के दिन हनुमान मंत्रों के दिव्य संवाद से आत्मिक ऊर्जा को जागृत करना, मानसिक स्थिरता को बढ़ावा देना, और सम्पूर्ण कल्याण को प्रोत्साहित करना है। भक्त इन अभ्यासों को अपनी दिनचर्या में शामिल करके हनुमान जी के आशीर्वाद का अनुभव कर सकते हैं।

Leave a comment