Mangalwar Vrat: मंगलवार व्रत से कैसे बदल सकती है आपकी किस्मत

Mangalwar Vrat:  हनुमान जी का व्रत: मनोकामना पूर्ति और सुखी जीवन का मार्ग

Mangalwar Vrat:हनुमान जी का व्रत: मनोकामना पूर्ति और सुखी जीवन का मार्ग

हनुमान जी का व्रत क्यों रखें?

मनोकामना पूर्ति

हनुमान जी का व्रत रखने से हमारी मनोकामनाएं पूर्ति होती हैं। विशेषकर, मंगलवार को उनका उपवास रखने से मान्यता मिलती है और हर किसी की मनोकामना सफलतापूर्वक सिद्ध होती है।

हनुमान जी की कृपा प्राप्ति

सच्चे मन से हनुमान जी की पूजा और उनका व्रत रखने से हमें उनकी कृपा मिलती है। यह हमें आत्मविश्वास देता है और जीवन को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने में मदद करता है।

कष्टों से मुक्ति

हनुमान जी का व्रत रखने से हम सभी कष्टों से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं। उनकी कृपा से हमारी सभी समस्याएं दूर होती हैं और जीवन में सुख-शांति बनी रहती है।

कुंडली में ग्रहों का शांति

हनुमान जी का व्रत करने से कुंडली में मौजूद सभी ग्रह शांत हो जाते हैं और जातक को आर्थिक स्थिति में सुधार होता है।

सम्मान और संतान प्राप्ति

हनुमान जी का व्रत रखने से व्यक्ति को सम्मान और संतान प्राप्ति में सहारा मिलता है। विशेषकर, संतान के लिए इस व्रत को रखना फलदायी माना जाता है।

Mangalwar Vrat

भूत-प्रेत और काली शक्तियों से बचाव

हनुमान जी का व्रत करने से भूत-प्रेत और काली शक्तियों का प्रभाव नहीं पड़ता है। यह हमें रक्षा करता है और नकारात्मक ऊर्जा से बचाता है।

सुखी और खुशहाल जीवन

हनुमान जी का व्रत रखने से व्यक्ति का जीवन सुखी और खुशहाल बनता है। उनकी आशीर्वाद से जीवन में समृद्धि और आनंद का अहसास होता है।

मंगलवार पूजन विधि

सामग्री:

  • हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर
  • लाल कपड़ा
  • गंगाजल
  • पुष्प
  • रोली
  • अक्षत
  • चमेली का तेल
  • दीपक
  • ताजे फूल
  • हनुमान चालीसा
  • सुंदरकांड
  • भोग
  • प्रसाद

विधि:

  1. ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करें।
  2. हनुमान जी का ध्यान करें और व्रत का संकल्प लें।
  3. उत्तर-पूर्व कोने में हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें।
  4. गंगाजल के छीटें देकर उन्हें लाल कपड़ा धारण कराएं।
  5. पुष्प, रोली और अक्षत के छीटें दें।
  6. चमेली के तेल का दीपक जलाएं।
  7. हनुमान जी के सामने दीप प्रज्वलित करें।
  8. हनुमान जी को ताजे फूल आर्पित करें।
  9. हनुमान जी की कथा सुनें।
  10. हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  11. सुंदरकांड का पाठ करें।
  12. भोग लगाएं।
  13. प्रसाद सभी में वितरण करें।
  14. 21 मंगलवार के व्रत होने के बाद 22वें मंगलवार को विधि-विधान के साथ बजरंगबली का पूजा कर उन्हें चोला चढ़ाएं।

हनुमान जी का व्रत रखने के लाभ

  • हनुमान जी की कृपा प्राप्त होती है।
  • सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।
  • कुंडली में ग्रहों का शांति होती है।
  • सम्मान और संतान प्राप्ति होती है।
  • भूत-प्रेत और काली शक्तियों से बचाव होता है।
  • सुखी और खुशहाल जीवन प्राप्त होता है।

हनुमान जी का व्रत रखना हमें शक्ति, संतुलन, और सुख-शांति का अहसास कराता है। इस पवित्र व्रत को नियमित रूप से करने से हम अपने जीवन को प्रेरित और समृद्धि भरपूर बना सकते हैं। इस विशेष दिन को मनाकर हम हनुमान जी की कृपा को आमंत्रित करते हैं और अपने जीवन को प्रकाशमय बनाने का संकल्प लेते हैं। इस व्रत के माध्यम से हम अपने मानसिक, शारीरिक, और आध्यात्मिक दृष्टिकोण से विकसित होते हैं और अपने जीवन को एक नई दिशा में मोड़ सकते हैं। इसलिए, हनुमान जी का व्रत रखकर हम अपने जीवन को नई ऊचाइयों तक पहुंचा सकते हैं और सुखी, समृद्धि भरपूर जीवन जी सकते हैं।


Dear reader you can also get Check Hanuman Chalisa in other languages too!

English PDF Telugu PDF
Gujrati PDF Kannada PDF
Marathi PDF Bengali PDF
Odia PDF Tamil PDF
Malayalam PDF Punjabi PDF
Nepali PDF Hindi PDF

Leave a comment